EK PARAMPARA KA ANT

Product Description

Friday, October 9th, 2015

स्कूलों में जातिगत वैमनस्य का कीटाणु प्रवेश कर चुका है। दलित और सवर्ण के दो गुट बन जाते हैं और आपसी दुश्मनी हद तक बढ़ जाती है। लेकिन जब एक अवर्ण ने अपना खून देकर एक सवर्ण छात्र की जिंदगी बचा ली तो जाति की यह कृत्रिम दीवार अनायास ही भड़भड़ाकर गिर पड़ी।

Share